Business

EPFO Account: EPFO का अकाउंट बदलना है तो परेशान होने की जरूरत नहीं, यहाँ जाने स्‍टेप बॉय स्‍टेप पूरा प्रोसेस

EPFO Account: EPFO का अकाउंट बदलना है तो परेशान होने की जरूरत नहीं, यहाँ जाने स्‍टेप बॉय स्‍टेप पूरा प्रोसेस। र‍िजर्व बैंक की तरफ से पेटीएम पेमेंट्स बैंक के ख‍िलाफ सख्‍त कदम उठाए जाने के बाद पेमेंट्स बैंक की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. आरबीआई (RBI) की कार्रवाई के बाद पेटीएम पेमेंट्स बैंक (PPB) को ईपीएफओ (EPFO) से भी झटका म‍िला था. पेमेंट्स बैंक की डूबती नैया के बीच पेटीएम के सीईओ व‍िजय शेखर शर्मा की कोश‍िश है क‍ि कम से कम पेटीएम यूसर्स के बेस को बचा ल‍िया जाए. इसके ल‍िए वह पेटीएम की तरफ से थर्ड पार्टी पर स्‍व‍िच करने की कोश‍िश की जा रही है. इसको लेकर पेटीएम मैनेजमेंट की एनपीसीआई (NPCI) से भी मीट‍िंग हुई है. एक द‍िन पहले अपडेट के अनुसार ईपीएफओ की तरफ से पेटीएम पेमेंट बैंक में क्रेडिट करने और क्लेम सेटलमेंट पर रोक लगा दी गई है.

पेटीएम पेमेंट बैंक में क्रेडिट और क्लेम सेटलमेंट पर रोक

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की तरफ से कहा गया क‍ि पेटीएम पेमेंट बैंक अकाउंट में ग्राहकों के ईपीएफ खातों की जमा और क्रेडिट लेनदेन को रोक द‍िया जाएगा. इस खबर के बाद ऐसे लोग काफी परेशान हैं ज‍िन्‍होंने अपने ईपीएफ अकाउंट को पेटीएम पेमेंट बैंक खाते से ल‍िंक कर रखा है. अब जरूरी है क‍ि आप जल्‍दी से जल्‍दी ईपीएफओ में दूसरा बैंक अकाउंट अपडेट करा लें. यह बदलाव ऐसे ईपीएफ मेंबर्स के ल‍िए जरूरी है ज‍िसके ईपीएफ से पेटीएम पेमेंट्स बैंक को कनेक्‍ट क‍िया गया था. ऐसे में ईपीएफ अकाउंट के बैंक खाते से ल‍िंक होने से आप यूएएन (UAN) के जर‍िये आसानी से अपना पीएफ / ईपीएफ ऑनलाइन निकाल सकते हैं. अगर आप भी अपना खाता नंबर और उससे जुड़ी जानकारी बदलना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको ईपीएफओ मेंबर पोर्टल पर लॉगइन करना होगा. आइये जानते है इसका पूरा प्रोसेस-

ये भी पढ़े: Maruti Ertiga MPV ने पार किया 10 लाख यूनिट बिक्री का आंकड़ा, धांसू इंजन और तगड़े माइलेज के साथ कीमत बस इतनी

यहां देख‍िए पूरा प्रोसेस (EPFO Account)

  • सबसे पहले ईपीएफओ मेंबर पोर्टल https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ जाएं.
  • होम पेज पर अपनी लॉग-इन आईडी और पासवर्ड दर्ज करें.
  • यहां पहुंचने के बाद मैनेज ऑप्‍शन पर क्‍ल‍िक करें.
  • अब यहां पर ड्रॉप-डाउन में ‘KYC’ ऑप्‍शन चुनें.
  • यहां डॉक्‍यूमेंट का स‍िलेक्‍ट करने के बाद ‘बैंक’ दर्ज करें.
  • बैंक अकाउंट नंबर और उसका आईएफएससी (IFSC) कोड दर्ज करें.
  • इसके बाद नीचे द‍िये गए सेव ऑप्‍शन पर क्लिक करें.
  • नई बैंक‍िंग ड‍िटेल्‍स सेव करने के बाद KYC को अप्रूवल के ल‍िए पेंड‍िंग शो करेगा.
  • अब अपने एम्‍पलायर के पास डॉक्‍यूमेंट प्रूफ जमा करें.
  • जब आपके एम्‍पलायर की तरफ से सब्‍म‍िट क‍िये गए डॉक्‍यूमेंट को वेर‍िफाई कर द‍िया जाएगा तो पेंड‍िंग केवाईसी अप्रूवल ‘Digitally Approved KYC’ में बदल जाएगा.
  • एक बार जब एम्‍पलायर आपके जमा किए गए दस्तावेजों को मंजूरी दे देता है तो आपको केवाईसी के डिजिटल अप्रूवल के ल‍िए ईपीएफओ से एक टेक्स्ट मैसेज भी म‍िलेगा.
  • इस तरह आप भी अपने ईपीएफ अकाउंट में आसाीन से बैंक अकाउंट बदल सकते हैं.
  • इसमें बदलाव करने के बाद आप जरूरत पड़ने पर आसानी से पैसा न‍िकाल सकते हैं.

ये भी पढ़े: iPhone 15 Discount: iPhone 15 पर मिल रही जोरदार डील, यहां से खरीदा तो होगी धासू बचत, जानें ऑफर

Related Articles

Back to top button
x