अन्य खबर

Rajasthan coal crisis: बिजली के संकट से जूझ रहा राजस्थान, रोजाना कोयले की 21 रैक की जरुरत

Rajasthan coal crisis: राजस्थान में कोयले का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है. राजस्थान की थर्मल यूनिट्स में अभी कोल इंडिया से आ रहे कोयले से बिजली उत्पादन हो रहा है. लेकिन राजस्थान के हिस्से की छत्तीसगढ़ कोयला माइंस से अभी कोयला नहीं आ रहा है. हालांकि राजस्थान की थर्मल पावर प्लांट्स की 23 में में से 21 यूनिटों में अभी विद्युत उत्पादन जारी है. लेकिन इनमें से 10 यूनिटों में प्रतिदिन आ रही कोयले की खेप उसी दिन खप रही है. इसके चलते इन 10 यूनिटों के पास अगले दिन का कोई इंतजाम नहीं है. अगर हालात नहीं सुधरे तो राजस्थान की बिजली कभी भी गुल हो सकती है.

Rajasthan coal crisis: बिजली के संकट से जूझ रहा राजस्थान, रोजाना कोयले की 21 रैक की जरुरत

Coal demand growth in India: Pushing peak coal down the Road?

ये भी पढ़े: LPG Gas Subsidy Check: गैस सिलेंडर पर सब्सिडी मिली या नहीं? घर बैठे करें चेक, ये है प्रोसेस

राजस्थान में कोयले का संकट बरकरार 

प्रदेश की थर्मल पावर प्लांट्स की 23 में में से 21 यूनिटों में अभी विद्युत उत्पादन जारी है. इन 21 यूनिट में फिलहाल 5800 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है. वहीं मांग जनवरी के दूसरे पखवाड़े में पहले पखवाड़े के मुकाबले अधिक हो गई है. सूत्रों के मुताबिक शेष 13 यूनिट्स में 2 से 4 दिन के कोयला का स्टॉक है. अगर छत्तीसगढ़ से आपूर्ति नहीं हुई तो ये यूनिट्स भी प्रतिदिन की सप्लाई और खपत की स्थिति में आ जाएगी. अगर ऐसा हुआ तो फिर बिजली संकट आना तय है. राजस्थान को प्रतिदिन 21 रैक कोयले की जरुरत है लेकिन अभी 17 रैक कोयला ही मिल पा रहा है.

राजस्थान को अतिरिक्त कोयले की सख्त जरुरत

फिलहाल राजस्थान को कोयले की रोजाना 21 रैक जरुरत है. लेकिन उसे मांग के मुकाबले केवल 17 रैक कोयला रोजाना मिल रहा है. मांग और आपूर्ति में चार रैक का चल रहा अंतर कम नहीं हुआ तो 13 थर्मल यूनिट्स में बचा हुआ स्टॉक भी जल्द ही निपट जाएगा और हालात बिगड़ जाएंगे. लिहाजा अब राजस्थान को अतिरिक्त कोयले की सख्त जरुरत है. अगर ऐसा नहीं  हुआ तो फिर बिजली संकट आना तय है.

Rajasthan coal crisis: बिजली के संकट से जूझ रहा राजस्थान, रोजाना कोयले की 21 रैक की जरुरत

Rajasthan Power Crisis: राजस्थान में गहरा सकता है बिजली संकट, कोल खनन की मांग लेकर छत्तीसगढ़ पहुंचे अधिकारी

ये भी पढ़े: PM Fasal Bima Yojana: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की लिस्ट जारी, ऐसे चेक करे सूची में अपना नाम

सीएम भजनलाल पहुंचे दिल्ली

राजस्थान में फिलहाल कोयले का भयंकर संकट चल रहा है. हालांकि राजस्थान में उपजा कोयला संकट सामने आने के बाद मंगलवार रात को ही सीएम भजनलाल शर्मा और ऊर्जा मंत्री हीरालाल नागर इसका समाधान खोजने के लिए दिल्ली चले गए हैं. उन्होंने वहां आज केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह और केन्द्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी से मुलाकात कर राजस्थान को इस संकट से उबारने के लिए बातचीत की है. बताया जा रहा है कि केंद्रीय उर्जा मंत्री और कोयला मंत्री ने सीएम को मदद का आश्वासन दिया है. इस दौरान कोल इंडिया से कोयले की अतिरिक्त रैक देने पर भी सहमति बनी है. वही दूसरी तरफ संभावित बिजली संकट से निजात पाने के लिए प्रदेश का ऊर्जा विभाग भी वैकल्पिक उपायों के बारे में रणनीति बनाने में जुटा है.

Related Articles

Back to top button
x