रायगढ़

Raigarh News: बाल देखरेख संस्थानों में निवासरत सभी बच्चों का बनाए जाति प्रमाण-पत्र-कलेक्टर कार्तिकेया गोयल

Raigarh News रायगढ़, 16 जनवरी 2024/ कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित जिला बाल संरक्षण समिति एवं सखी वन स्टाफ सेंटर के संचालन समिति की संयुक्त त्रैमासिक समीक्षा बैठक ली। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री जितेन्दर यादव उपस्थित रहे।

Raigarh News
Raigarh News

कलेक्टर श्री गोयल ने जिला बाल संरक्षण समिति के संबंध में समीक्षा करते हुए जिले में संचालित बाल देखरेख संस्थाओं की जानकारी ली। संबंधित अधिकारी ने बताया कि जिले में कुल 8 बाल देखरेख संस्था संचालित है, जिसमें कुल 310 बच्चे निवासरत हैं। विभागीय अधिकारी ने बताया कि मिशन वात्सल्य अंतर्गत जिले में कुछ पद रिक्त हैं, जिस पर कलेक्टर श्री गोयल ने शासन से मांग संबंधी पत्र लिखने के निर्देश दिए। जिले में संचालित बाल देखरेख संस्थानों में निवासरत 297 बच्चों के जाति प्रमाण पत्र नहीं बनने पर कलेक्टर श्री गोयल ने सभी संस्थाओं के बच्चों के लिए जाति प्रमाण पत्र के आवेदन भरने हेतु बाल देखरेख संस्थाओं के स्टॉफ को जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन संबंधी कार्यशाला आयोजित करने के निर्देश दिए। जिससे संस्था से बच्चों के जाति प्रमाण पत्र आवेदन भरे जा सके। उन्होंने मॉनिटरिंग संबंधी निर्देश दिए ताकि आवेदनों पर की गई कार्रवाई की प्रगति की समीक्षा हो सके।
पीएम केयर फॉर चिल्ड्रन स्कीम के तहत 18 बच्चों का वेब पोर्टल में अपडेट एवं बाल कल्याण समिति द्वारा समय-समय पर बच्चों का फालोअप के संबंध में जानकारी देने पर कलेक्टर श्री गोयल ने शेष एक बच्चे का अकाउंट एक सप्ताह के भीतर खोलने के निर्देश दिए। इसी प्रकार योजनांतर्गत जिन बच्चियों की उम्र 10 साल हो चुकी है, उन्हें सुकन्या समृद्धि योजना से लाभान्वित करने के निर्देश दिए। स्पॉन्सरशीप योजना अंतर्गत लाभान्वित बच्चों की समीक्षा की। जिसमें बताया गया कि जिले की 45 बच्चे लाभान्वित है कलेक्टर श्री गोयल ने जिला शिक्षा अधिकारी को इन सभी बच्चों के शाला में उपस्थित की जानकारी लेने एवं नियमित उनकी उपस्थिति की मॉनिटरिंग करवाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने किशोर न्यायालय में लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए की। इस दौरान उन्होंने बाल संप्रेक्षण में जहां जघन्य एवं छोटे अपराध वाले बच्चे रखते है ऐसे स्थानों में पर्याप्त सीसी टीवी कैमरे एवं निगरानी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
सखी वन स्टॉप सेन्टर की समीक्षा करने पर सखी सेंटर द्वारा बताया गया कि सखी वन स्टाप सेंटर रायगढ़ में 10 मार्च 2017 से आज तक कुल 1601 प्रकरण दर्ज किए गए हैं। जिसमें से 1573 प्रकरण निराकृत लिया गया हैं एवं 28 प्रकरण लंबित है। इसी प्रकार अब तक कुल 349 महिला एवं 129 बच्चों को आश्रय प्रदान किया गया है। साथ ही 51 प्रकरणों में पुर्नवासित किया जा चुका है। सखी सेन्टर द्वारा विधिक महिलाओं को विधिक सहायता हेतु विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा एक पैरालीगल वालंटियर सप्ताह में एक दिवस उपलब्ध होने की जानकारी पर कलेक्टर श्री गोयल ने कहा कि विधिक सहायता हेतु यह अपर्याप्त है, उन्होंने संबंधित प्राधिकरण को पत्र लिखने के निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्होंने महिला बाल विकास से सखी वन स्टाप सेंटर के निर्माण की जानकारी ली, निर्माणधीन एजेंसी ने बताया कि उक्त कार्य राशि प्राप्त होने के पश्चात पूर्ण हो जाएगा। इस दौरान सुरक्षा हेतु पर्याप्त होम गार्ड पर चर्चा की। कलेक्टर श्री गोयल ने कहा कि सखी वन स्टॉप सेन्टर बेहतर कार्य कर रही है, जिससे दो लोगों के बीच के मन मुटाव खत्म होने के साथ ही, प्रकरण में कमी आ रही हैं, जिसमें सखी वन स्टॉप सेन्टर मध्यस्थता की महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

Read more:Raigarh News: इंस्टाग्राम फ्रेंड ने नाबालिक लड़की को शादी का झांसा देकर उसकी सहेली के साथ भगा ले गया गुजरात

कलेक्टर श्री गोयल ने सखी सेंटर में उपलब्ध मूलभूत आवश्यकताओं की भी जानकारी लेने पर सखी वन स्टॉप द्वारा बताया गया कि चक्रधर बल सदन द्वारा वर्किंग वूमेन हॉस्टल का संचालन किया जाता है। जिसका उद्देश्य ऐसे महिलाओं को सहायता प्रदान करना है जिनके पास आश्रय का अभाव है एवं कार्य कर रही है। कलेक्टर श्री गोयल ने हॉस्टल की सीटों की जानकारी ऑनलाइन करने के संबंध में निर्देशित किया, ताकि रिक्त सीटों की जानकारी ऑनलाइन माध्यम में जरूरतमंद बालिकाओं और महिलाओं को मिल सके और वह उसके लिए आवेदन कर सके।
*जिले में संचालित चाइल्ड हेल्पलाइन की समीक्षा*
कलेक्टर श्री गोयल ने मिशन वात्सल्य अंतर्गत जिले में संचालित चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 में अब तक प्रकरण के संबंध में जानकारी ली। संबंधित अधिकारी द्वारा बताए गया कि अब तक कुल 35 प्रकरण हस्तक्षेप किया गया है। जिसमें बाल संरक्षण समिति के माध्यम से पुर्नवास की कार्रवाई की जा रही है। श्री गोयल स्वास्थ्य विभाग को की चिरायु टीम को चाइल्ड आउटरीच बढ़ाने की निर्देश दिए। इसी प्रकार चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर 1098 की बैनर पोस्टर बनाने एवं आरटीओ के माध्यम से बसों में चस्पा करने की निर्देश दिए, ताकि जागरूकता बढ़ सके।
*बाल विवाह रोकने कलेक्टर ने दिए निर्देश*
Raigarh News: श्री गोयल ने बाल विवाह रोकथाम की समीक्षा की। विभागीय अधिकारी द्वारा बताया गया कि 1 साल में कुल पांच बाल विवाह रोका गया है। श्री गोयल ने कहा कि यह बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक रूप से महत्वपूर्ण है, इसे रोकना आवश्यक है। मेले, आश्रम स्थल जैसे विभिन्न स्थानों में इसकी रोकथाम से संबंधित हेल्पलाइन नंबर 112 एवं 1098 को चस्पा करने के साथ ही लोगों को जागरूक करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सामाजिक व्यक्तियों की बैठक लेकर उन्हें समझाईश दें। उन्होंने बाल विवाह रोकथाम हेतु रेडियो जिंगल बनाने एवं जागरूकता संबंधी वीडियो बनाने के निर्देश दिए ताकि अधिक से अधिक लोगों को इस संबंध में जागरूक किया जा सके। उन्होंने बाल विवाह रोकथाम हेतु गठित टीम को ऐसे प्रकरण में कार्यवाही के दौरान संबंधित ग्राम पंचायत के कोटवार सचिव का सहयोग लेने के साथ ही पुलिस विभाग को तत्काल सहायता उपलब्ध कराने की निर्देश दिए।

Related Articles

Back to top button
x