देश

NEET-UG रीएग्जाम में 1563 में से बस इतने ही छात्र पहुंचे,CBI ने दर्ज की FIR

NEET-UG एग्जाम में हुई गड़बड़ियों को लेकर एजुकेशन मिनिस्ट्री की शिकायत पर रविवार 23 जून को CBI ने पहली FIR दर्ज की। मिनिस्ट्री से मिले कुछ रेफरेंस के आधार पर अनजान लोगों के खिलाफ IPC के सेक्शन 120-B (क्रिमिनल कॉन्स्पिरेसी) और 420 (चीटिंग) समेत कई धाराओं में FIR दर्ज की गई।

NEET-UG रीएग्जाम में 1563 में से बस इतने ही छात्र पहुंचे,CBI ने दर्ज की FIR

जांच के लिए CBI ने दो स्पेशल टीम बनाई हैं, जो पटना और गोधरा जाएंगी। केंद्र सरकार ने 22 जून की रात जांच की जिम्मेदारी CBI को सौंपी थी। इससे पहले सरकार ने शनिवार रात 9 बजे NTA (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) के डायरेक्टर जनरल सुबोध कुमार सिंह को हटा दिया था। उनकी जगह प्रदीप सिंह खरोला को नया डीजी नियुक्त किया गया।

वहीं, 5 मई को हुई NEET परीक्षा के रिजल्‍ट में ग्रेस मार्क्‍स पाने वाले 1563 कैंडिडेट्स के लिए रविवार को रीएग्‍जाम हुआ। एग्जाम दोपहर 2 बजे से शाम 5:20 बजे के बीच शेड्यूल किया गया था। 1563 में से कुल 813 कैंडिडेट्स ही एग्जाम में शामिल हुए। 750 कैंडिडेट्स एग्जाम देने नहीं पहुंचे। चंडीगढ़ में सिर्फ दो कैंडिडेट्स के लिए एग्जाम सेंटर बनाया गया, दोनों ही नहीं पहुंचे।

Read more : किसानों के लिए खुशखबरी ..! सरकार ने किया कर्जमाफी का ऐलान

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने NEET UG परीक्षा विवादों के संबंध में एक्शन लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को धन्यवाद दिया।

NEET-UG रीएग्जाम में 1563 में से बस इतने ही छात्र पहुंचे,CBI ने दर्ज की FIR

इसके अलावा, IMA ने NEET UG परीक्षा में अनियमितताओं की जांच को CBI को सौंपने और NTA के डायरेक्टर जनरल को हटाने के लिए शिक्षा मंत्रालय को भी धन्यवाद दिया है।

Related Articles

Back to top button