शिक्षा

Free JEE and NEET Coaching: अब यहां के छात्रों को मिलेगी फ्री में JEE और NEET की कोचिंग, एडमिशन के लिए करना होगा ये…

Free JEE and NEET Coaching: Now the students here will get free coaching for JEE and NEET, they will have to do this for admin...

Free JEE and NEET Coaching: नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) अपने स्कूलों और नवयुग स्कूलों में पढ़ने वाले 100 मेधावी छात्रों को मुफ्त नीट (NEET) और जेईई (JEE) कोचिंग कक्षा की पेशकश करने की योजना बना रही है. परिषद कोचिंग सेंटर के साथ साझेदारी में 11वीं कक्षा के छात्रों के लिए दो साल की एकीकृत कक्षा चलाएगी.

 

मेधावी और योग्य छात्रों को समान अवसर प्रदान करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. प्रारंभिक वर्ष में, दोनों कोर्स यानी JEE और NEET में प्रत्येक के लिए लगभग 50 छात्रों को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा. इसके बाद धीरे-धीरे विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाई जाएगी.

Read more: CG News: पावर प्लांट में गैस लीक होने के, 4 कर्मचारी हुए घायल…

 

इन शर्तों पर खुलेगा फ्री कोचिंग इंस्टीट्यूट

एनडीएमसी ने कक्षाएं शुरू करने के लिए कोचिंग संस्थानों से बोलियां आमंत्रित करने के लिए एक निविदा जारी की है. महत्वपूर्ण शर्तों में से एक शर्त यह है कि कोचिंग का कम से कम एक केंद्र दिल्ली में, एनडीएमसी क्षेत्र के आसपास, सभी आवश्यक बुनियादी ढांचे जैसे कि परिसर, पुस्तकालय, आदि के साथ चलना चाहिए.

 

पहले साल 100 छात्रों को मिलेगा मौका

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि, “आगामी वर्ष में जेईई और नीट की कोचिंग के लिए लगभग 50 छात्रों को नामांकित किया जाएगा. इसका मतलब है कि पहले वर्ष में, 100 छात्रों को जेईई-नीट की कोचिंग के लिए नामांकित किया जाएगा और धीरे-धीरे संख्या बढ़ाई जाएगी.”

Read more: Coforge Limited Share Price : ब्रोकरेज हाउस ने बढ़ाया target price, आसमान छूने वाला है इसका शेयर…

इस तरह होगा छात्रों का चयन

Free JEE and NEET Coaching : फ्री कोचिंग के लिए छात्रों का चयन स्क्रीनिंग टेस्ट के आधार पर होगा, जो कोचिंग सेंटर द्वारा आयोजित किया जाएगा. अधिकारी ने कहा कि कोचिंग संस्थान योजना के माध्यम से चुने गए छात्रों और उनके द्वारा सीधे नामांकित छात्रों के बीच कोई अंतर नहीं कर सकते हैं. संस्थान को छात्रों को प्रतिष्ठित मनोवैज्ञानिकों के माध्यम से स्टडी मटेरियल प्रदान करने होंगे और मॉक टेस्ट व मनोविज्ञान सेशन आयोजित करना होगा.

Related Articles

Back to top button
x