देश

Dhan Prapti ke Upay: नहीं बढ़ रहा बैंक बैलेंस?आजमाएं ये टोटके, हो जायेंगे मालामाल

Dhan Prapti ke Upay: आज के भौतिकवादी युग में पैसा बहुत बड़ी चीज है, आपकी जरूरतों और इच्छाओं की पूर्ति पैसा होने पर ही हो पाती है. लेकिन यदि आपके पास धन न हो तो आपकी जरूरत होने के बाद भी आप उस आवश्यक वस्तु को नहीं खरीद पाते और परेशान होते हैं. पैसे की कमी से अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, आप इस लेख में दिए उपायों को अपनाकर बटुआ हमेशा के लिए भरा रख सकते हैं.

Read more: Neem Leaves Medicinal Benefits: इन जादुई पत्तियों का इस्तेमाल हफ्ते में एक बार जरूर करें , मिल जायेगी इन रोगों से मुक्ति…

1. दालचीनी का टोटका

दालचीनी का थोड़ा सा पाउडर लें और उस पर सात बार अगरबत्ती को एंटी क्लॉक वाइज घुमा कर ईश्वर से धन धान्य बनाए रखने की प्रार्थना करते हुए सोचे की आपका पर्स धन से भरा हुआ है. अगरबत्ती वाली उस दालचीनी को अपने पर्स में छिड़क लें और बची हुई दालचीनी के पाउडर को घर के मंदिर में रख दें. हर दूसरे तीसरे दिन इस प्रक्रिया को दोहराते रहें, जल्द ही पैसे तंगी दूर होने लग जाएगी.

 

2. दालचीनी और मौली का उपाय

दालचीनी का एक साबुत रोल लें और उसके भीतर कोई भी एक नोट रोल कर लें और उसके ऊपर तीन बार मौली लपेट कर गांठ लगा दें. ईश्वर से प्रार्थना करें कि व्यापार या घर में कभी भी धन की कमी न रहे. ऐसा करने के बाद उसे ऑफिस या घर के बाहर कोने पर बांध दें. आप चाहें तो इसे पर्स में या कैश बॉक्स तिजोरी में भी रख सकते हैं. बस इस टोटके को सिर्फ गुरुवार के दिन ही करने से लाभ मिलेगा.

Read more: Aaj Ka Rashifal: कर्क, सिंह और वृश्चिक राशि वालों का बनेगा बिगड़ा काम, इन राशि वालों को मिल सकती है निराशा
3. धनिये की पत्तियों का उपाय

Dhan Prapti ke Upay : किसी भी माह के शुक्ल पक्ष में साबुत और सूखा हुआ धनिया मंगलवार अथवा गुरुवार के दिन प्रातः एक मिट्टी के बर्तन में 21 रुपए के सिक्के डाल कर ऊपर से धनिया को हल्के हाथ से मिक्स कर दें और ऊपर से थोड़ा पानी डाल दें. ऐसा करने के बाद बर्तन को घर में उत्तर दिशा या फिर तोरीजो के नीचे रख दें और रोज थोड़ा सा पानी छिड़कते रहें. जब धनिया की पत्तियां पूरी तरह से निकल आए तो उसे तोड़कर इस्तेमाल में ले आएं, और सिक्के को साफ लाल कपड़े में बांधकर पैसे की तिजोरी में रख दें, ऐसा करने से धन का आगमन शुरू हो जाएगा.

Related Articles

Back to top button
x