*✍️परीक्षा की चिंता छोड़ नाच गाना और सम्मान में जुटे शिक्षक✍️* -

*✍️परीक्षा की चिंता छोड़ नाच गाना और सम्मान में जुटे शिक्षक✍️*

 
RGH NEWS प्रशांत तिवारी शिक्षक समाज का एक सम्मानित पद जिसे समझा जाता है कि वह राजनीति से परे होता है
शिक्षक संघ लगातार सरकार द्वारा अलग-अलग कार्यों में लगाए जाने का समय-समय पर विरोध करता रहा है और आम जनता भी इस कार्य के लिए उनका समर्थन करती नजर आती है
लेकिन इसे चापलूसी की पराकाष्ठा ही कहा जा सकता है कि एक तरफ तो बोर्ड परीक्षा शुरू होने के महज 4 दिन बचे हैं वहीं दूसरी तरफ महज 50 मीटर की दूरी पर नवी और ग्यारहवीं की प्रायोगिक परीक्षाएं संचालित हो रही थी परंतु बच्चों के भविष्य को अनदेखी कर नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को खुश करने के लिए नाच गाने के बीच सम्मान समारोह आयोजित किया
हम बात कर रहे हैं बलौदा ब्लाक में स्थित ग्राम पंचायत सिवनी की जहां संकुल प्रभारी द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी और ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को बिना सूचना दिए या यह कहें बिना अनुमति लिए संकुल के समस्त स्कूलों की पढ़ाई को ठीक परीक्षा के समय सम्मान समारोह की तैयारी में लगा कर 27 फरवरी को सम्मान समारोह का आयोजन किया जबकि 2 मार्च से बोर्ड की परीक्षाएं प्रारंभ है और आश्चर्य तो यह है कि बमुश्किल 50 मीटर दूर हाई स्कूल के बच्चों की प्रायोगिक परीक्षाएं चल रही थी पर इस बात की चिंता किए बिना संकुल प्रभारी का शाला  परिसर में इस तरह का आयोजन कहां तक उचित है
अब आप खुद ही सोच सकते हैं कि शिक्षक बच्चों के पढ़ाई के प्रति कितने सजग हैं फिर गर्मी की छुट्टियों में जब उनसे सरकार द्वारा अशिक्षाकी कार्य लिया जाता है उसका विरोध क्यों
उच्च अधिकारी कार्यक्रम में उपस्थित  संकुल प्रभारी एवं उपस्थित शिक्षकों पर पर क्या कार्यवाही करते हैं यह देखने वाली बात है

Leave a Comment