छत्तीसगढ़

ओडिशा, महाराष्ट्र, एमपी समेत 7 राज्यों से तस्करी का धान रोकने सीमावर्ती जिलों में 200 चेकपोस्ट

छत्तीसगढ़ में 1 नवंबर से धान खरीदी शुरू हुई और सातों सीमावर्ती राज्यों ओड़िशा, मध्यप्रदेश, झारखंड, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्यप्रदेश और कभी-कभार उत्तरप्रदेश से तस्करी का धान यहां बेचने से रोकने के लिए सभी सीमावर्ती जिलों में हाईवे से लेकर ग्रामीण सड़कों और कच्चे रास्तों तक निगरानी शुरू कर दी गई है। अब तक प्रमुख और ग्रामीण सड़कों को मिलाकर पूरे बार्डर पर 200 से ज्यादा चेकपोस्ट लगा दिए गए हैं।

इनमें पुलिस के साथ-साथ राजस्व-खाद्य विभाग का अमला और कोटवार-पंचायत सचिव भी लगाए गए हैं। गरियाबंद में देवभोग, अंबिकापुर, रायगढ़, महासमुंद और कवर्धा में छापेमारी शुरू हो गई है। अब तक सभी जगह से लगभग 1 हजार क्विंटल ऐसा धान जब्त होने की सूचना है, जो बाहरी राज्यों से कोचिए लेकर आए थे तथा बेचने की फिराक में थे। इन्हें जिन गाड़ियों में लाया गया, उन्हें भी जब्त कर लिया गया है।

दरअसल हर साल धान खरीदी शुरु होने के साथ छत्तीसगढ़ शासन ने हर कलेक्टर को उनके सीमावर्ती गांवों में चेकपोस्ट बनाने और जांच के निर्देश दिए थे। छत्तीसगढ़ से लगे सात राज्यों की सीमाओं पर गांवों तक को जोड़नेवाली सड़कों पर नजर रखी जा रही है।

Related Articles

Back to top button
x