देश

Crime News: अपने चार साल के बेटे की हत्या करने वाली महिला CEO ने पुलिस को बताया कैसे दिया घटना को अंजाम

Crime News: बेंगलुरु की महिला CEO ने अपने चार साल के बेटे के मर्डर से जुड़ी कुछ बातें पुलिस के साथ शेयर की हैं। उसने बताया कि गोवा के होटल के कमरे में उसका बेटा कहां सोया था, उसका सूटकेस कहां रखा था और उसने सूटकेस में अपने बेटे की लाश कैसे रखी थी।

गोवा पुलिस के मुताबिक, सूचना सेठ के स्टेटमेंट के आधार पर शुक्रवार (12 जनवरी) को डेढ़ घंटे तक क्राइम सीन रिक्रिएट किया गया। पुलिस सूचना को होटल के उस कमरे में ले गई, जहां वह अपने बेटे के साथ ठहरी थी।

क्राइम सीन रिक्रिएशन के वक्त सूचना ने बताया कि बेटे की मौत के बाद उसने कैसे चाकू से अपनी कलाई काटी और सुसाइड करने की कोशिश की। पुलिस ने बताया कि सूचना ने बेंगलुरु से गोवा के लिए एकतरफा फ्लाइट टिकट बुक कराया था। शायद उसका इरादा सड़क के रास्ते ही लौटने का था।

वहीं, शनिवार को सूचना के पति वेंकट रमन अपना बयान दर्ज कराने के लिए अपने वकील के साथ गोवा के कैलंगुट पुलिस स्टेशन पहुंचे। बेटे के मर्डर के वक्त वे इंडोनेशिया में थे। पुलिस से बेटे की मौत की खबर मिलने के बाद वे 9 जनवरी को भारत आए और 10 जनवरी को बेंगलुरु में बेटे का अंतिम संस्कार किया।

Read more: Budget 2024: होम लोन लेने वाले के लिए खुशखबरी, 7 लाख तक मिल सकती है इनकम टैक्स में छूट, जाने पूरी खबर 

सूचना के बैग से नोट मिला, इसमें लिखा- पति को बच्चा नहीं दे सकती
पुलिस को सूचना के बैग से टिश्यू पेपर पर लिखा एक नोट भी मिला है। इसमें लिखा है- मेरे बच्चे की कस्टडी को लेकर कोर्ट और मेरे हसबैंड दबाव बना रहे हैं। मेरा हसबैंड हिंसक है। मैं उसे एक दिन के लिए भी अपना बच्चा नहीं दे सकती।

पुलिस ने बताया कि टिश्यू पेपर पर आईलाइनर या काजल पेंसिल से नोट लिखा गया है। सूचना ने नोट लिखकर उसे फाड़ दिया था। पुलिस ने टिश्यू पेपर के टुकड़े को जोड़कर उसमें लिखा मैसेज पढ़ा।

पुलिस का मानना है कि यह एक सुसाइड नोट हो सकता है, क्योंकि सूचना ने बेटे की हत्या के बाद अपने हाथ की नस काट ली थी। पुलिस ने होटल के कमरे से चाकू, तौलिया, तकिया और एक लाल बैग जब्त किया है।

6 जनवरी को सूचना ने पति को मैसेज कर बेटे से मिलने को कहा था
सूचना अपने पति वेंकट रमन से अलग रह रही थी। दोनों के तलाक की प्रक्रिया चल रही थी। बच्चे की कस्टडी सूचना के पास थी और कोर्ट ने वेंकट को हर रविवार अपने बच्चे से मिलने की इजाजत दी थी।

पुलिस की जांच में सामने आया है कि सूचना ने 6 जनवरी को अपने पति को मैसेज किया था कि वह अगले दिन बेटे से मिल सकता है। हालांकि 7 जनवरी को जब वह बेटे से मिलने पहुंचा तो पता चला कि मां-बेटा बेंगलुरु में नहीं हैं। इसके बाद वेंकट रमन उसी दिन इंडोनेशिया के लिए रवाना हो गया।

गोवा के होटल मैनेजर ने बताया कि सूचना ने 6 जनवरी से 10 जनवरी तक के लिए एडवांस में कमरा बुक किया था। लेकिन, 7 और 8 जनवरी की दरम्यानी रात 12:30 बजे उसने अचानक चेक-आउट कर लिया। इससे पहले उसने दिन में बेटे के लिए दो कफ सिरप की बोतल भी रिसेप्शन से ऑर्डर की थीं।

टैक्सी ड्राइवर की सूझबूझ से पुलिस की गिरफ्त में आई सूचना
सूचना ने गोवा से बेंगलुरु जाने के लिए जो टैक्सी बुक की थी, उसी के ड्राइवर के कारण वह पकड़ी गई। टैक्सी ड्राइवर की पहचान नॉर्थ गोवा के रहने वाले रॉय जॉन डिसूजा के रूप में की गई। उसने मीडिया को बताया कि होटल के रिसेप्शनिस्ट के बुलाने पर वह अपने एक साथी के साथ होटल पहुंचा था।

बेंगलुरु पहुंचाने के लिए सूचना से उसकी 30,000 रुपए किराये पर बात पक्की हुई थी। सूचना उस टैक्सी से रात में ही बेंगलुरु के लिए निकल गई। ड्राइवर को 8 जनवरी को सुबह करीब 11 बजे उसके पास गोवा के कैलंगुट पुलिस इंस्पेक्टर का फोन आया।

इंस्पेक्टर ने उससे पूछा कि सूचना अकेली है या उसके साथ कोई बच्चा है। ड्राइवर ने बताया कि सूचना अकेली है। इंस्पेक्टर और टैक्सी ड्राइवर कोंकणी भाषा में बात कर रहे थे। इसलिए सूचना उनकी बातचीत समझ नहीं पाई। पुलिस ने ड्राइवर को पूरा मामला बताया।

इसके बाद पुलिस ने टैक्सी ड्राइवर से सूचना को फोन देने को कहा। फिर पुलिस ने सूचना से पूछताछ की। सूचना ने पुलिस को बताया कि उसका बेटा गोवा में एक रिश्तेदार के पास है। सूचना ने एक पता दिया था, जो फर्जी निकला। इसके बाद इंस्पेक्टर ने टैक्सी ड्राइवर को तुंरत नजदीकी पुलिस स्टेशन जाने का निर्देश दिया।

ड्राइवर ने गूगल मैप पर पुलिस स्टेशन का लोकेशन ढूंढा
ड्राइवर ने बताया कि उस समय वे लोग एक्सप्रेस-वे पर थे। वहां सभी साइनबोर्ड कन्नड़ में लगे थे, इसलिए उसे समझ नहीं आया कि जाना कहां है। उसने गूगल मैप पर पुलिस स्टेशन खोजा, जो 150 किमी दूर दिखा रहा था।

ड्राइवर ने सूचना से कहा कि उसे और उसके साथी को टॉयलेट जाना है। तब वे कर्नाटक के चित्रदुर्ग जिले में थे। टैक्सी ड्राइवर ने सड़क किनारे एक रेस्टोरेंट पर गाड़ी रोकी और वहां के चौकीदार से बात की। चौकीदार ने उन्हें बताया कि 500 मीटर की दूरी पर ऐमंगला पुलिस स्टेशन है।

इसके बाद टैक्सी ड्राइवर सूचना को लेकर ऐमंगला पुलिस स्टेशन गया। पुलिस स्टेशन देखते ही सूचना ने टैक्सी ड्राइवर से पूछा कि यहां कार क्यों रोकी है। इस बीच ड्राइवर ने ऐमंगला थाना के इंचार्ज को फोन दे दिया। ऐमंगला पुलिस ने गोवा पुलिस से बात की और सूचना का लगेज चेक किया। उसमें सूचना के बेटे का शव मिला।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या की बात
बुधवार (10 जनवरी) को बच्चे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई। डॉक्टर ने बताया कि बच्चे की हत्या गला घोंटकर की गई है। ऐसा लग रहा है कि तकिया या तौलिया से गला घोंटा गया है। हाथ का इस्तेमाल नहीं हुआ है। बच्चे का चेहरा और छाती सूज गई थी। उसकी नाक से खून भी बहा था।

सूचना को पति और उसके बच्चे का मिलना पसंद नहीं था
सूचना नहीं चाहती थी कि उसका पति बेटे से मिले। सूचना ने अगस्त 2022 में पति पर अगस्त में घरेलू हिंसा का भी आरोप लगाया था। उसने कहा था- पति मेरा और मेरे बेटे का शारीरिक शोषण करता है।

सूचना ने दावा किया था कि उसके पति की सालाना इनकम 1 करोड़ रुपए से ज्यादा है। उसने गुजारा भत्ते के तौर पर पति से हर महीने 2.5 लाख रुपए की मांग की थी।

Crime News घटना के वक्त सूचना का पति वेंकट रमन जकार्ता (इंडोनेशिया) में था। गोवा पुलिस की सूचना पर वे 9 जनवरी को कर्नाटक के चित्रदुर्ग आए। वेंकट ने बुधवार (10 जनवरी) को बेंगलुरु में बेटे का अंतिम संस्कार किया।

 

 

Related Articles

Back to top button
x